बबुल का गोंद कमाल का और चमत्कारी है...

Perfect Health Tips Thu Jan 21 2021

credit: third party image reference

आयुर्वेद में बबुल गोंद के बारे में बहुत कुच्छ बताया गया है. ठंड के मौसम में गोंद का सेवन करना सेहत के लिये बेहतर साबित होता है. आप गोंद को भून कर खा सकते है, गोंद के लडू बनाकर खा सकते है, ठंड के मौसम में बबुल का गोंद खाने से सबसे बढा फायदा मिलता है. शरीर में यह गर्मी बनाये रखता है अकसर ठंड के मौसम में जोडो का दर्द बढता है. यह हड्डीया मजबूत करता है, मास पेशिया मजबूत बनता है, इस के अन्य फायदे जानने के लिये यह आर्टिकल पुरा पढे और अपना सहयोग दे ताकी एैसे आर्टिकल आपतक हम पोहचाते रहेंगे.


हररोज बबुल की भूनी हुई गोंद का सेवन करणे से दिल की बिमारी का खतरा कम होता है. दिल की बिमारी अन्य रोगो के लिये इसका बहुत फायदा होता है. साथ ही कमजोरी दूर होती है. थकान, चक्कर, दूर होने में मदत मिलती है.


बबुल के गोंद को घी में तलकर उस में थोडी मिश्री मिलाकर रोज शाम 25 ग्राम की मात्रा में सेवन करणे से शक्तिवर्द्धक शक्ती प्राप्त होती है. दुसरा प्रयोग बबुल के गोंद को घी में तलकर उसका पाक बनाकर खाने से पुरुष की ताकत बढती है.


मधुमेह से पिडीत व्यक्ती बबुल के गोंद का चूर्ण गाय के दुध के साथ 21 दिन रोजाना दो वक्त एक एक कप सेवन करणे से मधुमेह में उसका लाभ मिलता है. बबुल का गोंद मुह में रखकर चुसने से लाभ मिलता है.


बवासीर से परेशान पिडीत व्यक्ती बबुल का गोंद, कहरवा और गेरू इन तीनो को 7-7 ग्राम लेकर उसका चूर्ण बनाये बाद में गाय के दुध की छाछ बनाकर उस में एक ग्राम मिलाकर एक महिना पिणे से बवासीर में उसका लाभ होता है.


150 ग्राम बबुल का गोंद अच्छी तरह से भूनकर उसका चूर्ण बनाये उस में 15 ग्राम मिश्री का चूर्ण मिलाये इन दोनो का मिश्रण सुबह शाम एक एक चमच सेवन करणे से मासिक-धर्म के विकार कुच्छ ही दीनो में कम होकर उसका अच्छा फायदा मिलता है.

This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the application. The Application only provides the WeMedia platform for publishing articles.
Powered by WeMedia

Join largest social writing community;
Start writing to earn Fame & Money