बॉडीबिल्डिंग टिप्स बॉडी बनाते वक़्त सबसे ज़्यादा ज़रूरी 

Health of life Fri Jan 22 2021

credit: third party image reference

किसी भी कार्य-छेत्र में सफलता हेतु सबसे ज़रूरी है अपने बॉस व सहकर्मियों पर एक अच्छा प्रभाव बनाना। हालांकि यह एक व्यक्ति के आचरण पर बहुत हद तक निर्भर करता है कि वो कैसी छवि बना पाता है, परंतु सत्य यह भी है कि शारीरिक गठन व वेशभूषा ही प्रथम आकर्षण होता है। इसी प्रभाव को बनाने के लिये आज भारी मात्रा में लोग जिम् जाना चाहते हैं और एक सुडौल शरीर बनाना चाहते हैं। पर बॉडी बनाते वक़्त सबसे ज़्यादा ज़रूरी यह नहीं होता की आज आपने कितना भार उठाया। बल्कि उसके बारे में सटीक जानकारी, किसी भी प्रकार के चोट से सुरक्षा के नियम इत्यादि का ज्ञान होना अनिवार्य है। यहाँ आपको ऐसे ही कुछ छोटे छोटे नियम बताये जा रहे हैं जो काफी काम आ सकते हैं।

 1. किसी भी शारीरिक कार्य में शामिल होने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।
अलग अलग लोगों की मांसपेशियाँ अलग अलग भारउत्तोलन के लिए बनी होती हैं। ऐसे में सही यही है कि डॉक्टर से जांच करा ली जाए व अपनी क्षमता के अनुरूप ही कसरत की जाए।

 2. साँसों पर नियंत्रण रखें।
इसका ये अर्थ नहीं है कि आप साँसों को रोकें। परंतु एक्सरसाइज करते वक़्त सही समय पर साँस लेना भी एक सही शरीर के निर्माण में सहायक होता है।

 3. संतुलित भोजन करें।
शरीर के विकास में सबसे बड़ा योगदान खाने का ही होता है, इसलिए ज़रूरी है कि आप एक्सरसाइज के साथ साथ अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखें जिससे कि वजन में अधिक वृद्धि न हो, शरीर में चर्बी न जमें व पर्याप्त शक्ति बनी रहे।

 4. पानी भी पर्याप्त मात्रा में पियें।
भोजन और पेय साथ साथ चलने वाले पदार्थ हैं। इसलिए आवश्यक है कि दिन में तीन से चार लीटर पानी अवश्य पियें, ताकि शरीर में मेटाबोलिज्म की गति भी सही रहे और शरीर पर एक तेज़ बना रहे।

 5. अपने पसंद अनुकूल ही जिम पसंद करें।
जिम के ट्रेनर व सारे साधनों के साथ साथ ये भी देखें कि आपका जिम एक अच्छे जगह पर स्थित है जहाँ का माहौल खुशनुमा है। इससे आपके शरीर को भी मेहनत करने की ऊर्जा मिलेगी और आप अपने एक्सरसाइजेज भलीभाँति कर पाएंगे।

 6. मांसपेशियों में मज़बूती लाएँ।
अधिक एक्सरसाइज कर दबाव या टान पड़ने से बचें और इतनी कसरत भी न करें कि चोट लग जाए। कम से ज़्यादा की ओर जाते हुए भार उठाने की आदत डालें और मांसपेशियों में मज़बूती लाएं।

 7. किसी संगी के साथ कसरत करने की आदत डालें।
किसी के साथ कसरत करने के अनेक फ़ायदे हो सकते हैं। पहला तो आप कभी भी अपने काम से ऊबेंगे नहीं। दूसरा, आपको एक कड़ी टक्कर मिलेगी जिससे स्वतः ही आप कसरत सही प्रकार से करने में चूकेंगे नहीं।

 8. अपने शरीर की ज़रूरतों को जानें।
आपसे बेहतर आपके शरीर को आख़िर कौन जानता है? इसलिए आप खुद ही उसकी जरूरतों को समझें। अगर लगता है कि उसे एक दिन आराम की ज़रुरत है तो अवश्य ही आराम करें। परंतु हाँ, इसे रोज़ की आदत भी न बनने दें।

 9.  अपने एक्सरसाइजेज को अपने हिसाब से तय करवाएं।
उतनी ही कसरत करें जितने में आपके शरीर को कोई नुकसान या कष्ट न हो। अपने ट्रेनर को तुरंत बताएं अगर कोई भी ऐसी परेशानी आपको किसी भी एक्सरसाइज से महसूस हो। अपने दिनचर्या में स्ट्रेचिंग को स्थान अवश्य दें। इससे मांसपेशियां खुल सी जाती हैं।

10. अधिक विश्राम के बाद अचानक काफी एक्सरसाइज न करें।एक बार लंबे विश्राम के बाद शरीर को पुनः अभ्यस्त होने में वक़्त लगता है। इसलिये, एक बार में कोई कठिन कार्य न चुनें। सरल कसरत के शुरुआत करने की चेष्टा करें।

11. योगासन को दें जगह।
सिर्फ जिम जा कर एक्सरसाइज ही न करें बल्कि योगासन को भी अपनी दिनचर्या में शामिल करें। इस से न केवल आपके स्वास्थ्य में बेहतरी होगी, बल्कि आपकी शरीर गठन में भी मदद मिलेगी।

This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the application. The Application only provides the WeMedia platform for publishing articles.
Powered by WeMedia

Join largest social writing community;
Start writing to earn Fame & Money