महाराष्ट्र के मुख्य सचिव अजोय मेहता रिटायर होते ही बनेंगे मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार

उदयपुर किरण Tue Jun 30 2020


मुंबई (Mumbai) , . महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्य सचिव अजोय मेहता आज 30 जून को सेवानिवृत होने वाले हैं. उन्हें रिटायर होते ही मुख्यमंत्री (Chief Minister) उद्धव ठाकरे ने अपना प्रधान सलाहकार नियुक्त कर लिया है. इस तरह से रिटायर होने के साथ ही कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की साझा सरकार (Government) में मेहता मुख्यमंत्री (Chief Minister) उद्धव ठाकरे के लिए मदद करने का काम करेंगे. वहीं मुख्यमंत्री (Chief Minister) ठाकरे ने 1984 बैच के आईएएस अधिकारी संजय कुमार को अगला मुख्य सचिव बनाने का फैसला पहले ही कर कर लिया है. गौरतलब हो कि कोरोना संकट के बाद केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार (Government) और राज्य में बीजेपी के तीखे विपक्षी तेवरों का सामना करना उद्धव ठाकरे लिए आसान नहीं माना जा रहा है. इतना ही नहीं कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन के साथ सरकार (Government) चलाना भी उद्धव के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

ऐसे में मुख्यमंत्री (Chief Minister) उद्धव ठाकरे ने 1984 बैच के आईएएस अजोय मेहता को सलाहकार नियुक्त किया है. आपको बता दें कि मेहता का कार्यकाल पिछले साल 30 सितंबर को ही समाप्त हो रहा था, लेकिन विधानसभा चुनाव के कारण उनका कार्यकाल 30 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया गया. इस बार कार्यकाल पूरा होने का समय आया तो कोरोना संकट खड़ा हो गाया, जिसके चलते तीन महीने का सेवा विस्तार उन्हें मिल गया था. इस तरह आज मंगलवार (Tuesday) 30 जून को उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है. ऐसे में मुख्यमंत्री (Chief Minister) उद्धव ठाकरे ने उन्हें सेवा विस्तार देने के बजाय अपना राजनीतिक सलाहकार नियुक्त कर लिया है.

इस तरह से अब वो उद्धव ठाकरे के लिए पेचीदा मामलों को सुलझाने का काम करेंगे. दरअसल अजोय मेहता ऐसे अधिकारी रहे हैं, जिनके पास मुंबई (Mumbai) से लेकर दिल्ली तक और बीजेपी से लेकर कांग्रेस-एनसीपी तक के साथ काम करने का एक लंबा अनुभव है. शिवसेना-बीजेपी सरकार (Government) में वह तत्कालीन उपमुख्यमंत्री (Chief Minister) गोपीनाथ मुंडे के सचिव थे. इसके अलावा केंद्र की वाजपेयी सरकार (Government) में जब प्रमोद महाजन सूचना एवं प्रसारण मंत्री बने तो मेहता को दिल्ली ले गए थे. इसके अलावा कांग्रेस-एनसीपी की जब महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार (Government) थी तो मेहता ऊर्जा विभाग में सचिव थे और मंत्रालय की जिम्मेदारी अजीत पवार के पास था. इस तरह से एनसीपी के साथ भी काम करने का उन्हें अनुभव है.

अजोय मेहता ने तीन साल तक मुंबई (Mumbai) महानगरपालिका के आयुक्त पद की जिम्मेदारी संभाली थी. सूत्रों की मानें तो मनपा में अजोय मेहता को पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना पर नजर रखने के लिए नियुक्त किया था. मेहता ने तीन साल तक फडणवीस को संतुष्ट रखा बल्कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को भी शिकायत का मौका नहीं दिया. फडणवीस ने मनपा आयुक्त रहे मेहता को ही राज्य का अगला मुख्य सचिव बनाया था.

This article represents the view of the author only and does not reflect the views of the application. The Application only provides the WeMedia platform for publishing articles.
view source

Join largest social writing community;
Start writing to earn Fame & Money